ताजमहल से संबंधित ये रहस्य जानने के बाद, मुंह के साथ-साथ आंखें बंद करना भी भूल जाएंगे आप

DMCA.com Protection Status

वर्तमान समय में ऐसा कोई भी व्यक्ति नहीं होगा जो ताजमहल की सुंदरता के बारे में ना जानता हो अक्सर लोग ताजमहल की सुंदरता की तारीफ करते हुए नहीं थकते हैं जो भी ताजमहल की सुंदरता को देखता है बस उसकी निगाहें उसकी सुंदरता पर ही टिक जाती है परंतु ऐसे बहुत कम लोग ही होंगे जो ताजमहल से जुड़े हुए रहस्य के बारे में जानते होंगे आज हम आपको ताजमहल से जुड़े कुछ ऐसे रहस्य के बारे में जानकारी देने वाले हैं जिनको जानने के बाद आप भी आश्चर्यचकित हो जाएंगे यदि आप ताजमहल जाने वाले हैं या फिर ताजमहल जाने के बारे में विचार बना रहे हैं तो इन बातों पर आप जरूर गौर दीजिए क्योंकि ताजमहल सिर्फ प्यार का ही प्रतीक नहीं माना जाता बल्कि यह पूरे संसार में आकर्षण का केंद्र भी माना गया है इसके अतिरिक्त ताजमहल की ऐसी बहुत सी खूबियां है जिसको जानने के बाद आप दांतों तले उंगलियां दबा लेंगे इसीलिए तो ताजमहल को दुनिया के सात अजूबों में से एक माना जाता है।

आप सभी लोग इस खूबसूरत और प्यार की निशानी माने जाने वाली ताजमहल को किसने और किसके लिए बनवाया था इसके बारे में तो भली-भांति जानते होंगे परंतु इसके बावजूद भी ऐसी बहुत सारी बातें हैं जो इस इमारत से जुड़ी हुई है जिसके बारे में शायद ही कोई ऐसा होगा जो जानता है आज हम ताजमहल से जुडी इन्हीं रहस्यमई बातों को बताने वाले हैं।

आइए जानते हैं ताजमहल से जुड़े इन रहस्य के बारे में

  • दुनिया के सात अजूबों में से एक माने जाने वाले ताजमहल के मकबरे की छत में एक छेद मौजूद है जिसके पीछे भी बहुत ही दुख भरी वजह है इसके बारे में ऐसा बताया जाता है कि शाहजहां ने उन सभी मजदूरों के हाथ कटवाने के आदेश दे दिए थे जिन्होंने इस खूबसूरत इमारत को बनाया था क्योंकि शाहजहां यह चाहता था कि ताज महल जैसा खूबसूरत इमारत और दूसरा ना बन पाए शाहजहां के इस फैसले से मजदूर काफी नाराज हो गए थे और उन्होंने जानबूझकर मकबरे में एक छेद छोड़ दिया था जिसके कारण से बारिश के दिनों में आज भी वहां से पानी टपकता हुआ नजर आता है।

  • ऐसे बहुत कम लोग होंगे जिनको इस बारे में जानकारी होगी कि द्वितीय विश्व युद्ध 1971 भारत-पाक युद्ध और 9/11 के पश्चात ताजमहल को पहली बार बांस से ढक दिया गया था इस खूबसूरत इमारत की सुरक्षा को मद्देनजर रखते हुए भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग ने ताजमहल के चारों तरफ बांस से एक सुरक्षा घेरा बना दिया था और उसके बाद इसके ऊपर हरे रंग की चादर ढक दी थी जिससे दुश्मन को इस खूबसूरत इमारत के बारे में जानकारी ना हो पाए और ताजमहल को किसी प्रकार का नुकसान ना पहुंचे।

  • जब शाहजहां ने पहली बार ताजमहल को देखा था तब उसकी सुंदरता को एक नजर देखते ही रह गए थे उनकी आंखें ताजमहल की सुंदरता की कायल हो गई थी और अचानक ही उनके मुंह से निकल पड़ा कि “यह सिर्फ प्यार की कहानी ही बयां नहीं करेगा बल्कि उन सभी को दोष मुक्त करेगा जो इस पाक जमीं पर कदम रखेंगे और इसकी गवाही चांद तारे भी देंगे”
  • ताजमहल के मुख्य गुबंद के चारों तरफ मीनारें बनी हुई है और यह चारों मीनारें ताजमहल की तरफ झुकी हुई है इनके झुके होने का रहस्य यह है कि अगर कोई प्राकृतिक आपदा या भूकंप आ जाए तो यह मीनारें गिर भी जाए तो ताजमहल के गुबंद को किसी प्रकार की कोई हानि ना पहुंचे।

Recommended For You

Sohan Mahto

About the Author: Sohan Mahto

Leave a Reply