आज भौम प्रदोष व्रत पर करें यह उपाय, शिव कृपा से मिलेगी अपार धन-संपदा, कर्ज़ों से मिलेगी मुक्ति

आपको बता दें कि हर महीने के कृष्ण और शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी तिथि को प्रदोष व्रत आता है। हफ्ते के सात दिन में से जिस दिन प्रदोष व्रत पड़ता है, उसी नाम पर प्रदोष नाम रखा जाता है। अगर सोमवार के दिन प्रदोष व्रत आता है तो इसको सोम प्रदोष कहा जाता है। अगर मंगलवार के दिन प्रदोष व्रत आता है तो इसको भौम प्रदोष कहा जाता है। आज भौम प्रदोष व्रत है। शास्त्रों के अनुसार देखा जाए तो भौम का सीधा संबंध कर्ज से माना गया है और यह दिन कर्ज मुक्ति के लिए सबसे श्रेष्ठ माना जाता है।

अगर आप इस दिन कुछ सरल से उपाय करते हैं तो इससे आपके सभी कर्ज दूर होंगे और आपको धन लाभ की प्राप्ति होगी। आज हम आपको भौम प्रदोष व्रत पर किए जाने वाले कुछ उपायों के बारे में जानकारी देने वाले हैं। इन उपायों को करने से कर्ज के साथ ही मंगल से जुड़ी हुई सभी प्रकार की परेशानियां दूर होंगी।

भौम प्रदोष व्रत के उपाय

  • व्यापार में आपको बार-बार हानि का सामना करना पड़ रहा है जिसके कारण कर्ज लेने की स्थिति उत्पन्न हो चुकी है तो ऐसी स्थिति में आप भौम प्रदोष के दिन किसी भी शिव मंदिर में जाकर शिवलिंग पर हरे मोटे मूंग अर्पित कीजिए और मंत्र “ऊँ ऋण मुक्तेश्वर महादेवाय नमः” का जाप कीजिए। अगर आप ऐसा करते हैं तो इससे शिव जी की कृपा से व्यापार में हो रहा नुकसान खत्म होगा और आप अपने व्यापार में लगातार उन्नति हासिल करेंगे।
  • व्यक्ति अपने जीवन में किसी न किसी कारण से कर्ज ले लेता है परंतु कर्ज का बोझ उतारने में कई बार बहुत सी परेशानियां उत्पन्न होने लगती है। अगर आप चाहते हैं कि कर्ज से जल्द से जल्द छुटकारा मिले तो इसके लिए आप आज के दिन आसन पर बैठकर हाथ जोड़कर ऋण मोचक मंगल स्त्रोत का पाठ कीजिए। अगर आप ऐसा करते हैं तो जल्दी आपका कर्ज उतरने की संभावना रहती है।

  • आर्थिक परेशानियों से छुटकारा पाना चाहते हैं और चाहते हैं कि भविष्य में आपको आर्थिक परेशानी का सामना ना करना पड़े तो आप भौम प्रदोष की शाम को हनुमान मंदिर में जाकर या फिर घर पर ही हनुमान जी की मूर्ति के समक्ष घी का दीपक जलाएं और उनको बूंदी का प्रसाद अर्पित कीजिए, इसके बाद आपको हनुमान चालीसा का पाठ करना होगा। इस उपाय को करने से आपको भविष्य में कभी भी आर्थिक तंगी का सामना नहीं करना पड़ेगा और ना ही कर्ज लेने की नौबत आएगी।
  • यदि आप अपने अंदर सकारात्मक ऊर्जा का संचार बढ़ाना चाहते हैं तो इसके लिए आप भौम प्रदोष के दिन सुबह के समय स्नान करने के पश्चात साफ-सुथरे कपड़े धारण कर लीजिए, इसके बाद आपको हनुमान जी के समक्ष सिर झुकाकर प्रणाम करना होगा, इसके बाद आप कम से कम 7 बार हनुमान चालीसा का पाठ कीजिए। अगर आप यह उपाय कर लेते हैं तो इससे आपके अंदर की नकारात्मक ऊर्जा दूर भागेगी और सकारात्मक ऊर्जा का संचार बढ़ेगा।
  • यदि आपको संतान सुख की प्राप्ति करनी है तो इसके लिए आप आज के दिन भूमि पुत्र मंगल के मंत्र “ॐ भूमि पुत्राय नमः” का जाप करें। इस मंत्र का जाप आपको कम से कम 108 बार करना होगा, इससे संतान प्राप्ति की इच्छा पूर्ण होगी।

Leave a Reply