5 दिसंबर से लागू होने जा रहे PAN कार्ड के ये नए नियम, जान लीजिये इसके बारे में

DMCA.com Protection Status

आयकर विभाग ने पैन कार्ड आवेदको के लिए नए नियम बनाए हैं, यह नया नियम 5 दिसंबर 2018 लागू होगा और लागू होने वाले पैन कार्ड नियमों के लिए वित्तीय संस्थाओं की आवश्यकता होगी जो रुपये जे लेनदेन करते हैं। एक व्यक्ति एक साल याय एक वित्तीय वर्ष में ढाई लाख या उससे अधिक का लेनदेन करता हैं, उसे भी 31 मई 2019 को या उससे पहले पैन कार्ड के लिए भी आवेदन करने की जरूरत हैं, इसी सप्ताह जारी हुये अधिसूचन में सीबीडीटी ने कहा। इसके अलावा आयकर विभाग ने पैन कार्ड के आवेदन पत्र में बदलाव की भी घोषणा की हैं, इसलिए आज हम आपको नए पैन कार्ड के नियमों के बारे में बताने वाले हैं।

31 मई तक करना होगा आवेदन

एक प्रबंध निदेशक, निदेशक, साथी, ट्रस्टी, लेखक, संस्थापक, कर्ता, मुख्य कार्यकारी अधिकारी, मुख्य अधिकारी या पदाधिकारी या ऐसे किसी व्यक्ति जिसके पास पैन कार्ड नहीं है, उसे पैन कार्ड के लिए आवेदन करने की भी आवश्यकता होगी, अधिसूचना में कहा गया है कि अगले वित्तीय वर्ष के 31 मई को या उससे पहले आवेदन करना अनिवार्य हैं।

कर चोरी रोकने में मिलेगी मदद

नए नियमों के साथ ही, निवासी संस्थाओं को भी पैन कार्ड प्राप्त करना आवश्यक हैं| भले ही उनकी कुल बिक्री, कारोबार या सकल रसीदे वित्तीय वर्ष में पाँच लाख तक क मुनाफा या लेनदेन नहीं करता हैं| नांगिया सलाहकार के सहयोगी ने कहा कि “इससे आयकर विभाग वित्तीय लेनदेन को ट्रैक करने में सहायता मिलेगी, इससे कर आधार बढ़ेगा और कर चोरी पर रोक भी लगेगी।

पिता के नाम की आवश्‍यकता नहीं

पैन कार्ड के आवेदन के नए नियमों में आयकर विभाग ने कुछ बदलाव की भी घोषणा की हैं, नए नियम के अनुसार अब पैन कार्ड में पिता के नाम आवश्यकता नहीं यानि अब मटा के नाम से भी पैन कार्ड बनवाया जा सकता हैं।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि नए नियम के मुताबिक पिता के नाम की आवश्यकता नहीं यानि की जिन बच्चो के माँ सिंगल रहती हैं वो अपने माँ का नाम ही उपयोग में ला सकते हैं और यह नियम 5 दिसंबर 2018 को लागू होगा। यह नया नियम इसलिए लागू किया गया हैं क्योंकि आज के समय में बहुत से बच्चो के पिता नहीं बल्कि उनकी माँ ही उनकी परवरिश कर रही हैं और इस बात का ध्यान करते हुये सरकार ने पैन कार्ड में माँ के नाम को शामिल किया हैं।

पैन कार्ड के बारे में बता दें कि पैन नंबर या पैन कार्ड देश में आयकर निर्धारित को सौंपा गया एक पहचान संख्या हैं और यह वित्तीय लेन-देन के लिए जरूरी होता हैं। अर्थात पैन कार्ड से बैंक खाता खोलना और आयकर रिटर्न दाखिल करना आदि शामिल हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पैन कार्ड के बिना आप कोई भी वित्तीय कार्य नहीं कर सकते हैं। अर्थात हर वित्तीय कार्य में आपको पैन कार्ड की आवश्यकता पड़ती हैं। इसलिए यदि आप कोई भी वित्तीय कार्य करने जा रहे हैं तो आपको अपने पास पैन कार्ड जरूर रखे, इसके अलावा पैन कार्ड, पहचान पत्र का भी काम करता हैं।

यह भी पढ़ें :

Recommended For You

About the Author: Kumar Gourav

Leave a Reply