लंकापति रावण से हर व्यक्ति को सीखनी चाहिए यह बातें, दुनिया पर कर सकते हैं विजय हासिल

DMCA.com Protection Status

दुनिया भर में तरह-तरह के लोग रहते हैं, किसी व्यक्ति में अच्छाइयां होती हैं तो किसी व्यक्ति में बुराइयां होती हैं, इसका मतलब यह नहीं है कि सभी लोग अच्छे या बुरे होते हैं, सभी लोगों के अंदर अच्छाइयां और बुराइयां मौजूद होती हैं, अगर किसी व्यक्ति के ऊपर बुराई हावी हो जाए तो इस स्थिति में व्यक्ति दानव के समान हो जाता है परंतु अगर व्यक्ति के अंदर अच्छाइयां बढ़ने लगती है तो वह देवता के समान हो जाता है, कई बार ऐसा होता है कि हमारे मन में बहुत से बुरे विचार उत्पन्न होने लगते हैं और हम उनके ऊपर काबू पाने का प्रयत्न भी करते हैं।

आप सभी लोग रावण के बारे में तो जानते ही होंगे, लंकापति रावण में बहुत सी कमियां मौजूद थी लेकिन इसके बावजूद भी वह एक विद्वान महा ज्ञानी पंडित माने गए हैं, रावण ने अपने जीवन में लगातार कई तरक्की हासिल की थी और उसने पूरी दुनिया को जीतने का सपना भी देखा था, रावण के जीवन से जुड़ी हुई बहुत सी बातें हैं जिनको हर व्यक्ति को जरूर सीखना चाहिए, अगर कोई व्यक्ति इनके जीवन से जुड़ी हुई बातों को सीखता है तो उस व्यक्ति के जीवन में एक बड़ा बदलाव देखने को मिलेगा।

आइए जानते हैं लंकापति रावण से कौन सी बातें सीखनी चाहिए

  • रावण बहुत बड़ा ज्ञानी था, ऐसा माना जाता है कि रावण जैसा ज्ञानी अभी तक कोई भी नहीं हुआ है, रावण ने अपने ज्ञान के बलबूते पर ही तीनों लोगों पर कब्जा किया था, जब राम रावण युद्ध में रावण की अंतिम सांसे चल रही थी तब उस समय के दौरान भगवान राम जी ने लक्ष्मण को रावण के पास शिक्षा लेने के लिए भेजा था, लंकापति रावण की इस खूबी से हमें यह शिक्षा मिलती है कि अगर व्यक्ति के पास ज्ञान है तो उसका शत्रु भी उसका सम्मान करेगा।
  • अगर हम रावण के सबसे महत्वपूर्ण और बड़े गुण की बात करें तो रावण एक बहुत ही दृढ़ संकल्पी था, अगर रावण किसी चीज को प्राप्त करने की चाहत कर लेता था तो वह उसको प्राप्त करने के लिए हर संभव कोशिश में लगा रहता था, अपनी चाहत को पूरी करने के लिए रावण कुछ भी करने को तैयार रहता था, इतना ही नहीं बल्कि रावण ने धन रतन कुबेर तक को अपना बंधक बना लिया था, रावण के इस स्वभाव से हमें यह सीख मिलती है कि अगर व्यक्ति को अपने जीवन में सफलता हासिल करनी है तो दृढ़ संकल्पी बनना बहुत ही जरूरी है।

  • जैसा कि ज्यादातर लोग जानते हैं लंकापति रावण अपनी पत्नी मंदोदरी से बहुत अधिक प्यार करता था लेकिन उसने माता सीता का अपहरण किया था जो उसके लिए बहुत ही भारी पड़ गया था, इससे इस बात का पता लगता है कि व्यक्ति की कामयाबी और नाकामयाबी के पीछे स्त्रियों का बहुत बड़ा हाथ होता है, इसीलिए अगर आप अपने जीवन में सफलता हासिल करना चाहते हैं तो हमेशा स्त्रियों का सम्मान कीजिए।
  • रावण कभी भी अपने धर्म से पीछे नहीं हटा था, इतना बड़ा ज्ञानी होने के बावजूद भी रावण भगवान शिव जी का बहुत बड़ा भक्त था, रावण ने तीनों लोगों पर कब्जा किया था लेकिन वह अपने धर्म को नहीं भूला था।

Recommended For You

Sohan Mahto

About the Author: Sohan Mahto

Leave a Reply