सूर्यदेव का प्रसिद्ध चमत्कारिक मंदिर, जहां कुंड में नहाने से खुल जाता है भाग्य

अध्यात्म

मनुष्य अपने जीवन को खुशहाल और अपने दुखों से छुटकारा प्राप्त करने के लिए अक्सर भगवान की शरण में जाता है, हमारा देश धार्मिक देशों में से एक माना गया है, हमारे देश में विभिन्न धर्मों के लोग रहते हैं और अपने देवी देवताओं की पूजा करते हैं, आपको बता दें कि हिंदू धर्म में सूर्य देवता को पंचदेव में से प्रमुख देवता माना गया है, सूर्य देव का दिन रविवार माना जाता है, इस दिन सूर्य देव की विशेष पूजा अर्चना की जाती है, मान्यता अनुसार अगर इस दिन सूर्य देव की पूजा की जाए तो मनुष्य को उत्तम फल की प्राप्ति होती है, जो व्यक्ति सूर्यदेव की उपासना करता है उसको अपने जीवन में पद प्रतिष्ठा और सफलता प्राप्त होती है, उस मनुष्य को ज्ञान सुख मिलता है।

आज हम आपको इस पोस्ट के माध्यम से सूर्य देव के एक ऐसे प्रसिद्ध और चमत्कारिक मंदिर के बारे में जानकारी देने वाले हैं जो भक्तों की आस्था का प्रमुख केंद्र बना हुआ है, ऐसा बताया जाता है कि जो भक्त यहां आकर सूर्य देवता के दर्शन करता है उसकी सभी मनोकामनाएं पूरी होती है, इतना ही नहीं बल्कि व्यक्ति को अपने सभी पापों से छुटकारा मिलता है।

दरअसल, आज हम आपको जिस मंदिर के बारे में जानकारी दे रहे हैं यह सूर्य मंदिर राजस्थान झुंझुनू जिले के लोहागर्ल में स्थित है, यहां के स्थानीय लोगों का ऐसा बताना है कि यहां पर दर्शन करने वाले भक्तों की सभी मुरादें पूरी हो जाती है इस मंदिर के अंदर सूर्य देवता अपनी पत्नी के साथ विराजमान है, इस मंदिर के बारे में ऐसा बताया जाता है कि महाभारत के युद्ध के बाद सभी पांडव अपने पापों से छुटकारा पाने के लिए यहां पर आए थे और इस मंदिर में बने कुंड में स्नान किया था, इस कुंड में स्नान करने के पश्चात पांडव को अपने सभी पापों से मुक्ति प्राप्त हुई थी।

सूर्य देव के इस प्रसिद्ध मंदिर में जो कुंड बना हुआ है अगर उसमें कोई व्यक्ति स्नान करता है तो ऐसा माना जाता है कि उस व्यक्ति को अपने सभी पापों से छुटकारा मिल जाता है, इतना ही नहीं अगर किसी व्यक्ति को त्वचा से संबंधित किसी प्रकार की समस्या है तो वह व्यक्ति इस कुंड में स्नान करता है तो उसको त्वचा से संबंधित सभी रोगो से मुक्ति मिलती है अर्थात उसकी त्वचा से संबंधित रोग ठीक हो जाते हैं, जो भक्त यहां आकर सूर्यदेव के दर्शन करता है उसके सभी पाप कट जाते हैं।

इस मंदिर के अंदर भक्त अक्सर अपनी दुख परेशानियां लेकर सूर्य देवता के दर्शन करने के लिए आते हैं, ऐसा माना जाता है कि जो भक्त अपने सच्चे मन से यहां आकर दर्शन करता है उसके जीवन की तमाम परेशानियां सूर्य देवता की कृपा से दूर हो जाती है, इस मंदिर में लोग दूर-दूर से दर्शन करने के लिए आते हैं, विशेष रूप से त्वचा से संबंधित परेशानियों से पीड़ित लोग यहां आकर कुंड में स्नान करते हैं और उनको अपनी समस्या से मुक्ति प्राप्त होती है, इस मंदिर के प्रति लोगों का अटूट विश्वास देखने को मिलता है।


Leave a Reply