समलैंगिकता को मान्यता मिलते ही शादी के एक दिन पहले दुल्हन को छोड़ लड़के के साथ फ़रार हुआ दूल्हा

DMCA.com Protection Status

भारत में कई साल से समलैंगिकता को लेकर विवाद चल रहा था। कई लोगों का कहना था कि समलैंगिकता को क़ानूनी मान्यता मिलनी चाहिए। वहीं कई लोग ऐसे भी थे जो यह कह रहे थे कि यह पाप है और इसे क़ानूनी मान्यता किसी भी क़ीमत पर नहीं मिलनी चाहिए। काफ़ी समय से यह मामला कोर्ट में भी चल रहा था। दिल्ली हाईकोर्ट ने समलैंगिकता के पक्ष में फ़ैसला दिया था, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने मान्यता नहीं दी। धारा 377 के तहत यह क़ानूनी अपराध था।

लेकिन हाल ही में समलैंगिकता को सुप्रीम कोर्ट ने भी अपराध की श्रेणी से बाहर कर दिया है। इस ख़बर से ना केवल समलैंगिक लोग ख़ुश हैं, बल्कि सुप्रीम कोर्ट के इस फ़ैसले से आम लोग भी काफ़ी ख़ुश हैं। लोगों का कहना है कि हर किसी को अपनी मर्ज़ी से पार्टनर चुनने का अधिकार है। सुप्रीम कोर्ट ने अपने फ़ैसले में कहा था कि अगर दो वयस्क लोग समलैंगिक सम्बंध बनाते हैं तो इसमें कोई बुराई नहीं है। यानी मर्ज़ी से बनाए गए समलैंगिक सम्बंध को अपराध नहीं माना जाएगा।

समलैंगिकता को क़ानूनी मान्यता मिलने के बाद समाज के कई LGBT समुदाय के लोग खुलकर सामने आ रहे हैं। पहले जो समाज और घर-परिवार की वजह से चुपचाप बैठे थे, अब वो खुलकर अपने रिश्ते के बारे में बात कर रहे हैं। हाल ही में हरियाणा के यमुनानगर में एक बहुत ही अजीबोग़रीब मामला सामने आया है। यहाँ एक दूल्हा अपनी शादी के एक दिन पहले ही रहस्यमयी तरीक़े से ग़ायब हो गया। जब यह मामला पुलिस के पास पहुँचा और पुलिस ने जाँच की तो कोई और ही मामला सामने आया। जब पुलिस ने जाँच किया तो समलैंगिक सम्बंध होने का ख़ुलासा हुआ।

प्राप्त जानकारी के अनुसार यमुनानगर की कांसापुर रोड स्थित कॉलोनी में रहने वाले 25 साल के युवक की सगाई दो साल पहले ही पंजाब के मुबारकपुर की रहने वाली एक लड़की से हो गयी थी। बताया जा रहा है कि इसी महीने युवक की 11 सितम्बर को शादी होने वाली थी। लेकिन वह शादी से एक दिन पहले महिला संगीत वाले दिन युवक अपने नाबालिग़ युवक पार्टनर के साथ भाग गया। दूल्हे की माँ ने बताया कि पिछले कुछ दिनों से उनके बेटे का नाबालिग़ दोस्त बेटे की शादी पर ऐतराज़ जता रहा था।

उन्होंने बताया कि एक बार उसने फ़ोन करके शादी ना करने की धमकी भी दी थी। जाँच के दौरान यह बात सामने आयी कि दोनो के ही परिजन कुछ माह से उनके चाल-चलन देखकर उन्हें परिवार से दूर कर रहे थे। दूल्हे के नाबालिग़ दोस्त की माँ ने बताया कि उन्होंने कुछ दिनों पहले ही अपने बेटे को परिवार से बेदख़ल कर दिया था। उन्होंने बताया कि दोनो कई महीने से साथ में रहते थे। जब वो अपने नाबालिग़ बेटे को रोकती थीं तो वो कहता था कि आपकी भी तो सहेली हैं। यमुनानगर के एसएचओ नरेंद्र राणा ने बताया कि पुलिस ने दोनो के फ़ोन को सर्विलांस पर लगाए हैं ताकि उनकी लोकेशन ट्रेस हो सके। प्राथमिक जाँच से तो यही लग रहा है कि यह मामला समलैंगिकता का है।




Recommended For You

About the Author: Pradeep Kumar

Leave a Reply