विडियो: हिजाब पहन एक नंबर फुटबॉल खेलती हैं 17 वर्षीय लड़की, अपने टेलेंट से बदल रही समाज की सोच

दुनियां भले मॉडर्न बन गई हो लेकिन आज भी लोगो की सोच पिछड़ी हुई हैं. इस पुरुष प्रधान समाज में आज भी लड़कियां अपने सपने पूरा करने के लिए लड़ती हैं. लड़कियों को कौन सा काम करना चाहिए और कौन सी चीज बिलकुल नहीं करना चाहिए ये भी समाज पहले से सोच कर रखता हैं. समाज की इस पिछड़ी सोच के चलते कुछ ड़कियों को दिक्कत होती हैं. वे चाहकर भी अपने सपने नहीं देखती हैं. हालाँकि आज हम आपको जिस बहादुर लड़की से मिलाने जा रहे हैं उसने समाज की इस वधारणा को खुली चुनौती दी हैं.

इनसे मिलिए. ये हैं हदिया हकीम (Hadiya Hakeem). हदिया एक मुस्लिम समुदाय से आती हैं. इनकी उम्र महज 17 साल की हैं. ये क्लास 12वी में पढ़ती हैं. हदिया को फुटबॉल खेलने का बड़ा शौक हैं. सिर्फ शौक ही नहीं बल्कि ये तो इसमें बड़ी माहिर भी हैं. हदिया जब भी अपनी फूटबॉल की स्किल लोगो के सामने प्रदर्शित करती हैं तो सभी हैरान रह जाते हैं. सबसे दिलचस्प बात ये हैं कि फुटबॉल खेलते हुए भी हदिया अपने समुदाय की संस्कृति नहीं भूलती हैं.

 

View this post on Instagram

 

The game of joy ❤ [email protected]__16 #hijabifreestyler #shepower #shekicks

A post shared by Hijabi Freestyler⚽️ (@hadiya_freestyle) on


दरअसल हदिया हमेशा हिजाब पहनकर ही फुटबॉल खेलती हैं. वे मूल रूप से केरल के Mukkam की निवासी हैं. हदिया बताती हैं कि वर्तमान में वे जहाँ रहती हैं वहां कि लड़कियों को खेलकूद में इतने ज्यादा मौके नहीं मिलते हैं. फिर जब बात फुटबॉल जैसे गेम की आती हैं तो कई लोगो की सोच यही होती हैं कि लड़कियां ये गेम नहीं खेल सकती हैं. ये पुरुषों का खेल हैं. हालाँकि हदिया ऐसा बिलकुल नहीं सोचती हैं.

हदिया ने जब स्कूल में अपना फ्री स्टाइल फुटबॉल स्किल को सबके सामने दिखाया था तो हर कोई हक्का बक्का रह गया था. लोगो को यकीन नहीं हो रहा था कि हिजाब पहनी 17 साल की ये दुबली पतली लड़की इतना बढ़िया फुटबॉल खेल लेती हैं. हदिया को ये स्किल अपने पिता  अब्दुल हकीम से विरासत में मिली हैं. दरअसल अब्दुल भी पहले एक फुटबॉल प्लेयर रह चुके हैं. यही वजह हैं कि हदिया को भी इस खेल में रूचि आई हैं.

 

View this post on Instagram

 

❤⚽️!! #hijabifreestyler

A post shared by Hijabi Freestyler⚽️ (@hadiya_freestyle) on


वो तो हदिया के पिता खुद एक फुटबॉल खिलाड़ी रह चुके हैं इसलिए उन्हें घर से कोई पाबंदी नहीं हैं. पर जरा सोचिये कितनी ऐसी लड़कियां होगी जो अपनी पसंद का खेल या जॉब करना चाहती हैं लेकिन परिवार के दबाव के कारण उस दिशा में आगे नहीं बढ़ पाती हैं. हदिया ने अपनी 10वी तक की पढ़ाई कतर में की थी. उस दौरान वे अपने स्कूल की फुटबॉल टीम का हिस्सा हुआ करती थी. हालाँकि बाद में उनकी फैमिली को शिफ्ट होना पड़ा. ऐसे में इस नई जगह में लड़कियों की कोई भी फुटबॉल टीम नहीं हैं.

 

View this post on Instagram

 

⚽️ ❤ #hijabifreestyler #shepower

A post shared by Hijabi Freestyler⚽️ (@hadiya_freestyle) on


सोशल मीडिया पर हदिया की तस्वीरें और विडियो भी अक्सर वायरल होते रहते हैं. मसलन इस विडियो में स्कूल के अंदर एक कायक्रम चल रहा था. इसमें फुटबॉल मैच भी हुआ था. जब ये मैच समाप्त हुआ तो हदिया ने सबके सामने अपनी फ्री स्टाइल फुटबॉल स्किल दिखाई. हदिया का ये अवतार देख पूरा स्कूल हैरान रह गया.

वैसे आपको हदिया की फुटबॉल स्किल्स कैसी लगी हमें कमेंट में जरूर बताए.

Leave a Reply