विश्व में प्रसिद्ध भगवान गणेशजी का एक ऐसा मंदिर, जहां सच्चे मन से मांगी मन्नत होती है पूरी

अध्यात्म

हम सभी इस बात से भलीभांति परिचित हैं कि सभी देवी-देवताओं में भगवान गणेश जी को प्रथम पूजनीय माना जाता है, कोई भी धार्मिक अनुष्ठान या पूजा-पाठ में सर्वप्रथम भगवान गणेश जी की पूजा अर्चना करने का विधान माना गया है, ऐसा बताया जाता है कि भगवान गणेश जी की प्रथम पूजा करने से यह अपने भक्तों से प्रसन्न होते हैं और उनकी सभी मनोकामनाएं पूरी करते हैं, वैसे हमारे देश भर में भगवान गणेश जी के बहुत से मंदिर मौजूद है, जो अपने किसी ना किसी विशेष कारण की वजह से दुनियाभर में प्रसिद्ध है, परंतु आज हम आपको भगवान गणेश जी का एक ऐसे प्रसिद्ध मंदिर के बारे में जानकारी देने वाले हैं जो पूरे विश्व भर में एकमात्र गणेश मंदिर माना गया है, ऐसा बताया जाता है कि इस मंदिर के अंदर जो भी भक्त अपने सच्चे मन से अपनी मन्नत मांगता है तो उसकी हर मुराद भगवान गणेश जी अवश्य पूरी करते हैं।

दरअसल, हम आपको विश्व के एकमात्र जिस गणेश मंदिर के बारे में जानकारी दे रहे हैं यह मध्य प्रदेश के इंदौर में स्थित है, गणेश जी के इस मंदिर को “खजराना गणेश मंदिर” के नाम से जाना जाता है, ऐसा बताया जाता है कि इस मंदिर के जैसा पूरे विश्व में कोई अन्य मंदिर मौजूद नहीं है, ऐसा इसलिए हम आपको बता रहे हैं क्योंकि यहां केवल सिंदूर से भगवान गणेश जी की मूर्ति बनी हुई है, खजराना गणेश मंदिर विशेष रूप से भगवान गणेश जी को समर्पित है, ऐसा बताया जाता है कि महारानी अहिल्याबाई द्वारा इस मंदिर को 1735 में निर्माण करवाया गया था, इस मंदिर में भगवान गणेश जी की जो मूर्ति स्थापित है वह अन्य मूर्तियों से बिल्कुल भिन्न है।

भगवान गणेश जी का यह मंदिर बहुत ही प्राचीन है, यहां पर गणेश जी के दर्शन करने के लिए रोजाना ही भक्तों की लंबी लाइन लगी रहती है, भक्त गणेश जी के दर्शन करने के लिए अपनी बारी का इंतजार करते हैं, इस मंदिर में जो भी भक्त इनके दर्शन करने के लिए आता है, अपनी श्रद्धा अनुसार दान देता है, भगवान गणेश जी के दर्शन के लिए श्रद्धालु दूर-दराज से यहां पर आते हैं, यहां पर जो भक्त अपने सच्चे मन से मनोकामना मांगता है तो उसकी मनोकामना अवश्य पूरी होती है, यहां पर भक्त अपनी मनोकामना मांग कर भगवान गणेश जी की पीठ पर उल्टा स्वास्तिक का निशान बनाते हैं और जब मनोकामना पूरी हो जाती है तो वह दोबारा आकर सीधा स्वास्तिक का निशान बनाते हैं और भगवान गणेश जी को लड्डुओं का भोग लगाते हैं।

बुधवार के दिन भगवान गणेश जी के खजराना गणेश मंदिर में भव्य समागम का आयोजन होता है, जिसमें भक्त भारी संख्या में भाग लेते हैं, दूर-दराज से श्रद्धालु इस मंदिर में बड़ी संख्या में आते हैं, यहां पर भगवान गणेश जी के अलावा अन्य देवी देवताओं के भी दर्शन किए जा सकते हैं, यहां पर दुर्गा, लक्ष्मी, गंगा, भगवान शिव, राम-सीता, हनुमान जी के साथ-साथ भगवान शनिदेव की भी पूजा होती है, आप इस मंदिर में हवाई मार्ग, रेल मार्ग, सड़क मार्ग से पहुंच सकते हैं, यहां पर देवी अहिल्याबाई एयरपोर्ट है, अगर आप रेल मार्ग से जाना चाहते हैं तो इंदौर रेलवे स्टेशन है, यहां पर भारत के लगभग हर कोने से रेलगाड़ियां आती हैं, अगर आप सड़क मार्ग से इस मंदिर में आना चाहते हैं तो आप बस या टैक्सी के द्वारा यहां पर आ सकते हैं।


Leave a Reply