जानिए क्यों बोया जाता है नवरात्रि में जौ? यदि बोया गया जौ इस रंग का उगे तो मिलता है शुभ फल

अध्यात्म

हिंदू धर्म में नवरात्रि का त्यौहार बहुत महत्वपूर्ण माना गया है, नवरात्रि के दिनों में माता की आराधना की जाती है, नवरात्रि के 9 दिन माता की पूजा अर्चना करने के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण माने जाते हैं, 9 दिनों तक माता के अलग-अलग 9 रूपों की पूजा अर्चना करने का विधान माना गया है, इन 9 दिनों तक मां शक्ति की आराधना की जाती है, जब नवरात्रि के दिन आरंभ होते हैं तो इस समय के दौरान लोग नवरात्रि का व्रत करते हैं और दुर्गा सप्तशती का भी पाठ करते हैं, इसके अलावा नवरात्रि के दिनों में घर में मिट्टी के बर्तनों में जौ भी बोया जाता है।

लेकिन क्या आप लोग इस बात को जानते हैं कि आखिर नवरात्रि के दिनों में जौ क्यों बोया जाता है? आखिर इसके पीछे क्या वजह हो सकती है? आज हम आपको इस पोस्ट के माध्यम से नवरात्रि में जौ क्यों बोया जाता है और इससे भविष्य के क्या-क्या संकेत मिलते हैं इसके बारे में जानकारी देने वाले हैं।

क्यों बोया जाता है नवरात्रि में जौ?

अगर हम धर्म ग्रंथों के अनुसार देखें तो इस संसार में सबसे पहली फसल जौ की ही मानी जाती है, इसी वजह से जब भी किसी देवी देवता की पूजा अर्चना की जाती है तो उनको जौ अर्पित किया जाता है, इसके अलावा हवन जैसे शुभ कार्य में भी जौ चढ़ाया जाता है, ऐसा माना जाता है कि नवरात्रि में जो जौ उगाया जाता है वह हमारे आने वाले समय से संबंधित बहुत से संकेतों की तरफ इशारा करता है, जौ बोये जाने के पीछे सबसे विशेष वजह यह है कि जौ अन्न ब्रह्मा है और हमें जौ का सम्मान अवश्य करना चाहिए।

बोया गया जौ देता है हमारे भविष्य का संकेत

  • अगर नवरात्रि के दिनों में जौ बोया जाता है तो यह सामान्य रूप से दो या फिर 3 दिनों के अंदर अंकुरित होने लगता है परंतु अगर इस समय अवधि के दौरान आपके द्वारा बोया गया जौ ना उगे तो यह आपके लिए भविष्य के अच्छे संकेत नहीं माने जाते हैं, इसका अर्थ होता है कि आप अपनी कठिन मेहनत के बावजूद भी सफल नहीं हो पाएंगे, इसके अतिरिक्त अगर जो का रंग नीचे से आधा पीला और ऊपर से आधा हरा होता है तो इसका अर्थ होता है कि आने वाला वर्ष का आधा समय आपके लिए ठीक रहने वाला है।
  • अगर आपने नवरात्रि में जौ बोया है तो अगर उस जौ का रंग नीचे से आधा हरा और ऊपर से आधा पीला हो तो इसका मतलब होता है कि आपके साल की शुरुआत अच्छे से होने वाली है यानी कि साल के शुरुवाती दिन आपके अच्छे व्यतीत होने वाले है परंतु उसके पश्चात आपको अपने जीवन में कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है, अगर बोया हुआ जौ का रंग सफेद या फिर हरे रंग में उगे तो यह शुभ फलदाई माना जाता है, अगर ऐसा हो तो इसका अर्थ होता है कि आपके द्वारा की गई पूजा सफल हो गई है और आपका पूरा वर्ष खुशियों से भरपूर रहने वाला है, आप अपना जीवन पूरा साल हंसी-खुशी व्यतीत करेंगे।

Leave a Reply