इन छोटे से उपाय से ही प्रसन्न होंगे महाबली हनुमान, धन की परेशानी से मिल जाएगी मुक्ति

अध्यात्म

शास्त्रों और हिंदू मान्यता के अनुसार ऐसा बताया जाता है कि कलयुग में भी महाबली हनुमान जी को धरती पर रहने का वरदान प्राप्त हुआ है, जो व्यक्ति अपने सच्चे मन से महाबली हनुमान जी का स्मरण करता है उसके जीवन की सभी परेशानियां दूर होती है, महाबली हनुमान जी अपने भक्तों को कभी भी परेशानी में नहीं देख सकते हैं, इसलिए भक्तों की पुकार सुनकर महाबली हनुमान जी अपने भक्तों की परेशानी दूर करने के लिए तुरंत आ जाते हैं, वर्तमान समय में ऐसे बहुत से लोग हैं जो हनुमान जी को प्रसन्न करने के लिए तरह-तरह के उपाय अपनाते हैं, जिनसे इनका आशीर्वाद प्राप्त हो सके और जीवन में जो भी मुश्किलें उत्पन्न हो रही है उन सभी का समाधान हो पाए।

वैसे तो भक्त महाबली हनुमान जी की साधना और पूजा-अर्चना की कई विधि अपनाते हैं लेकिन कुछ सरल से उपाय हैं जिनको अगर व्यक्ति करता है तो इससे महाबली हनुमान जी शीघ्र प्रसन्न होते हैं, अगर आप महाबली हनुमान जी को प्रसन्न करके इनकी कृपा प्राप्त करना चाहते हैं और अपने जीवन की दुख तकलीफों और धन से जुड़ी हुई समस्याओं से मुक्ति पाना चाहते हैं तो आप कुछ उपाय अपना सकते हैं।

इन छोटे उपायों से महाबली हनुमान जी शीघ्र होंगे प्रसन्न

  • हर किसी व्यक्ति को इस बात की जानकारी भली-भांति है कि महाबली हनुमान जी बाल ब्रहमचारी थे, इसलिए महाबली हनुमान जी की साधना में ब्रह्मचारी व्रत जरूर लेना चाहिए, जब आप महाबली हनुमान जी की पूजा करते हैं तो आप मन और तन से बिल्कुल पवित्र हो जाए, इनकी पूजा करने के दौरान आप अपने मन में गलत विचारों को ना आने दे और ना ही आप अपने मन को भटकने दीजिए, इसके अलावा महाबली हनुमान जी की पूजा करते समय साफ-सफाई और पवित्रता का विशेष ध्यान रखना बहुत ही आवश्यक है, आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि इनकी पूजा के दौरान किसी भी प्रकार की अपवित्रता ना हो और इनके व्रत के दौरान आप सदाचारी रहने की कोशिश कीजिए।

  • अपनी मनोकामनाओं को पूरा करने के लिए मंगलवार के दिन महाबली हनुमान जी की पूजा करना अत्यंत शुभ माना गया है, मान्यता अनुसार अगर आप सूर्यास्त के पश्चात महाबली हनुमान जी की पूजा करते हैं तो इससे यह बहुत ही शीघ्र प्रसन्न हो जाते हैं, आप मंगलवार के दिन शाम के समय सूर्यास्त के पश्चात हनुमान जी के किसी भी मंदिर में जाएं या फिर आप अपने घर में रखी हुई हनुमान जी की मूर्ति के समक्ष साफ आसन पर बैठ जाएं और उनके समक्ष चौमुखा सरसों के तेल का दीपक जलाएं, इसके साथ ही आप अगरबत्ती पुष्प आदि हनुमानजी को अर्पित कीजिए, इतना करने के पश्चात आप सिंदूर, चमेली का तेल अर्पित कीजिए, हनुमान जी के समक्ष दीपक लगाते समय “ऊँ रामदूताय नमः” और “ऊँ पवन पुत्राय नमः” मंत्र का उच्चारण करने के पश्चात हनुमान चालीसा पढ़ना ना भूले।
  • आजकल लोगों का जीवन काफी व्यस्त हो गया है और इस व्यस्त जीवनशैली में कई बार ऐसा होता है कि भगवान के व्रत का समय नहीं निकल पाता है, अगर आप मंगलवार का व्रत नहीं रख सकते तो आप महाबली हनुमान जी की विधि विधान पूर्वक पूजा कीजिए, इससे आपको लाभ मिलेगा।

Leave a Reply