पितृपक्ष के दिनों में कौए देते हैं शुभ और अशुभ संकेत, इस तरह के संकेतों से मिलता है अपार धन

अध्यात्म

पितृपक्ष का समय पितरों की मोक्ष प्राप्ति का माना जाता है, बहुत ही जल्द श्राद्ध के दिन आरंभ होने वाले हैं, इस साल 13 सितंबर से पितृ पक्ष की शुरुआत हो रही है, इस समय के दौरान लोग अपने पूर्वजों की आत्मा की मुक्ति के लिए पिंडदान और तर्पण करते हैं, पवित्र नदियों में जाकर लोग स्नान करके अपने पितरों का श्राद्ध करते हैं, पितृपक्ष पूरे 16 दिनों तक चलता है, ऐसा बताया जाता है कि पितृपक्ष के समय हमारे सभी पूर्वज कौवे का रूप धारण करके पृथ्वी पर अवतरित होते हैं, इस बात का जिक्र विष्णु पुराण में भी मिलता है, पितृपक्ष के दिनों में पूरे 16 दिनों तक कौवे को भोजन कराया जाता है ताकि पितरों को तृप्त किया जा सके और उनका आशीर्वाद मिल पाए।

कौवे से जुड़े हुए शास्त्रों में बहुत से शुभ और अशुभ संकेतों के बारे में बताया गया है, ऐसा कहा जाता है कि अगर पितृपक्ष के दिनों में कुछ संकेत मिलते हैं तो इससे आप अपने जीवन की परिस्थितियों के बारे में अंदाजा लगा सकते हैं दरअसल, शास्त्रों के अनुसार श्राद्ध के दिनों में कौए हमें अच्छे और बुरे दोनों ही संकेत से अवगत कराते हैं परंतु जानकारी के अभाव में लोग इनको समझ नहीं पाते हैं और इनको नजरअंदाज कर देते हैं, आज हम आपको कौवे के ऐसे संकेतों के बारे में जानकारी देने वाले हैं जिससे आप अच्छे और बुरे का अंदाजा लगा सकते हैं।

पितृपक्ष के दिनों में कौए देते हैं शुभ और अशुभ संकेत

गाय की पीठ पर कौवा बैठा हुआ देखना

अगर आप पितृपक्ष के दिनों में किसी गाय की पीठ पर कौवा बैठा हुआ देखते हैं तो यह शुभ संकेत माना जाता है, अगर कौवा गाय की पीठ पर अपनी चोंच रगड़ रहा है तो यह इस बात की ओर इशारा करता है कि माता अन्नपूर्णा की कृपा दृष्टि आप के ऊपर बनी हुई है।

कौवे को हरे भरे वृक्ष पर बैठा हुआ देखना

अगर आप पितृपक्ष के दिनों में कौवे को हरे भरे वृक्ष या फिर घर की छत पर बैठा हुआ देखते हैं तो यह इस बात की ओर संकेत करता है कि आपको अचानक कहीं से आर्थिक लाभ की प्राप्ति हो सकती है।

कौवा अनाज के ढेर पर बैठा हुआ देखना

अगर पितृ पक्ष के दिनों में कौवे को अनाज के ढेर पर बैठा हुआ देखते हैं तो यह धन प्राप्ति के संकेत माने गए हैं।

बाएं तरफ से कौवा भोजन करें तब

अगर आप पितृ पक्ष में कौवे को बाएं तरफ से आकर भोजन ग्रहण करते हुए देखते हैं तो यह इस बात का संकेत होता है कि आपके द्वारा की गई यात्रा या फिर कोई भी कार्य बिना किसी बाधा के सफल हो सकता है।

सूअर की पीठ पर कौवा बैठा हुआ देखना

अगर आप पितृपक्ष के दिनों में किसी सूअर की पीठ पर कौवा बैठा हुआ देखते हैं तो यह इस बात की ओर इशारा करता है कि धन की देवी माता लक्ष्मी जी आपके ऊपर मेहरबान है और आपको बहुत ही शीघ्र धन की प्राप्ति हो सकती है।

कौवे की चोंच में फूल-पत्ती दिखाई देना

अगर आप पितृ पक्ष के दिनों में किसी कौवे की चोंच में फूल और कोई पत्ती देखते हैं तो इसका अर्थ होता है कि आपकी मनोकामना बहुत शीघ्र पूरी हो सकती है।


Leave a Reply