नज़र लगने को लेकर वैज्ञानिकों का ख़ुलासा, आँखों से निकलती हैं कुछ तरंगे, जो डालती है बुरा प्रभाव

DMCA.com Protection Status

अक्सर आपने देखा होगा कि आपको बिना किसी वजह के ही जीवन में कई परेशनियाँ घेर लेती हैं। जैसे अचानक से ही आपके या आपके किसी प्रियजन के साथ कुछ बुरा होने लगता है, या घर में आर्थिक तंगी हो जाती है। परिवार के सदस्यों के रिश्ते ख़राब हो जाते हैं। तो ऐसे में यही कहा जाता है कि ज़रूर किसी की नज़र लगी होगी। ऐसा तब ज़्यादा कहा जाता है, जब यह सब बच्चों के साथ होता है। कहा जाता है कि बच्चों को नज़र बहुत जल्दी लगती है। बड़ों को भी नज़र लगती है, लेकिन बड़ों को बहुत कम नज़र लगती है।

करना पड़ता है लोगों को कई परेशानियों का सामना:

अक्सर लोग नज़र लगने को अंधविश्वास मानते हैं। वहीं कई लोग ऐसे भी हैं जो इन सब बातों पर बहुत गहराई से यक़ीन करते हैं। उनके अनुसार यह सब होता है और इसकी वजह से लोगों को कई परेशानियों का सामना भी करना पड़ता है। अब सवाल यह उठता है कि क्या सच में नज़र लगने की बात अंधविश्वास है या इसमें कोई सच्चाई है? आज हम आपके इसी सवाल का जवाब लेकर आए हैं। आज हम आपको नज़र लगने के बारे में सबकुछ बताएँगे जो शायद ही आप पहले से जानते होंगे।

हँसता-खेलता परिवार हो जाता है रातों-रात बर्बाद:

नज़र लगना, इसे एक तरह का दोष माना जाता है, अक्सर लोग ईर्ष्या या जलन की वजह से ऐसा करते हैं। जब किसी व्यक्ति को किसी दूसरे व्यक्ति की तरक़्क़ी, ख़ुशी देखकर जलन होती है तो इसे नज़र लगना कहते हैं। कई बार इसका प्रभाव ज़्यादा नहीं होता है, लेकिन कई बार इसकी वजह से व्यक्ति की ज़िंदगी पूरी तरह से बर्बाद हो जाती है। इसकी वजह से किसी का जीवन पल भर में तहस-नहस हो जाता है। जब बिना किसी ठोस वजह से किसी हँसते-खेलते परिवार, इंसान, बच्चे के बर्ताव में अचानक से परिवर्तन आ जाए तो समझ जाइए कि कोई ना कोई चिंता की बात ज़रूर है।

यह तो रही लोगों की मान्यताओं की बात। अब हम आपको बताएँगे कि नज़र लगने के बारे में विज्ञान क्या कहता है। क्या सच में नज़र लगने जैसी कोई चीज़ विज्ञान की नज़र में सही होती है? तो आपकी जानकारी के लिए बता दें नज़र लगने जैसी कोई भी चीज़ विज्ञान की नज़र में सही नहीं होती है। नज़र लगने की बात को विज्ञान सिरे से ख़ारिज करता है। हालाँकि वैज्ञनिकों का यह ज़रूर मानना है कि इंसान की आँखों से कुछ ऐसी तरंगे निकलती हैं, जो सामने वाली वस्तु या व्यक्ति पर नकारात्मक या सकारात्मक प्रभाव डालती हैं। जब ये तरंगे ज़्यादा तेज़ होती हैं तो नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

नज़र के बारे में वैज्ञनिकों का मानना है कि यह इंसान के दिमाग़ की उपज मात्र है। यह आस्था है या अंधविश्वास है? लेकिन जो भी हो इसकी वजह से इंसान सदियों से जूझ रहा है। ऐसे में इससे बचने के लिए कुछ उपायों का पालन कर सकते हैं। जिस व्यक्ति को नज़र लग गयी हो, उसके सिर के ऊपर से दूध तीन बार वारकर कुत्ते को पीला दें। ऐसा कहा जाता है कि इससे नज़र उतर जाती है। इसके साथ आप हनुमान जी की पूजा करके भी आप नज़र दोष से आसानी से छुटकारा पा सकते हैं।




Recommended For You

About the Author: Pradeep Kumar

Leave a Reply