एकमात्र चमत्कारिक मंदिर जहां विराजमान है गोबर गणेश, हर मन्नत होती है पूरी, भक्तों की लगी भीड़

DMCA.com Protection Status

भगवान गणेश जी को अपने भक्तों के विघ्न हरने वाला कहा गया है जो भक्त भगवान गणेश जी की भक्ति करता है उसके सभी दुख भगवान गणेश जी दूर करते हैं गणेश जी को बुद्धि का देवता कहा जाता है भारत में ऐसे बहुत से गणेश मंदिर हैं जिनमें भक्तों की भारी भीड़ देखने को मिलती है इन मंदिरों के प्रति लोगों की काफी श्रद्धा है आप सभी लोगों ने भगवान गणेश जी के बहुत से रूप देखे होंगे परंतु आज हम आपको एक ऐसे रूप के बारे में जानकारी देने वाले हैं जहां पर भगवान गणेश जी की गोबर की मूर्ति विराजमान है जी हां, आप लोग बिलकुल सही सुन रहे हैं भगवान गणेश जी का एक ऐसा मंदिर है जहां पर इनकी मूर्ति गोबर की है और यह मूर्ति हजारों वर्ष पुरानी है इस मंदिर के बारे में ऐसा बताया जाता है कि यहां पर नारियल अर्पित करके गणेश जी से मनचाहा वरदान पाया जा सकता है।

भगवान गणेश जी की इस मूर्ति के माथे पर मुकुट गले में हार और खूबसूरत सिंगार सभी भक्तों का मन मोह लेता है सभी भक्त भगवान जी के पास अपने दुख दर्द का इलाज करवाने के लिए आते हैं और सबसे आश्चर्य कर देने वाली बात यह है कि यहां गणेश जी को गोबर गणेश के नाम से पुकारा जाता है सभी भक्त इनको गोबर गणेश के नाम से पुकारते हैं दरअसल, भगवान गणेश जी का यह मंदिर मध्य प्रदेश के आगर मालवा जिले में स्थित नलखेड़ा में स्थित है इस मंदिर के प्रति लोगों की काफी आस्था जुड़ी हुई है इस मंदिर के अंदर सभी भक्त भगवान गणेश जी का आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए भारी संख्या में आते हैं गोबर गणेश जी अपने सभी भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूरी करते हैं ऐसा कहा जाता है कि गोबर के यह गणेश जी अपने भक्तों को कभी भी निराश नहीं करते हैं जो भक्त अपनी खाली झोली लेकर भगवान गणेश जी की शरण में आता है वह यहां से हंसी खुशी अपने घर वापस जाता है नलखेड़ा में गोबर गणेश जी की प्रतिमा हजारों वर्षों पुरानी है।

भगवान गणेश जी के इस प्राचीन मंदिर में गणेश जी की 500 साल से भी अधिक पुरानी गोबर गणेश जी की प्रतिमा का श्रृंगार किया जाता है इस स्थान पर गणेश जी कमल के फूल पर विराजित है श्रृंगार के पश्चात इनकी मूर्ति और भी आकर्षक लगती है इनके इस रूप को देखकर सभी भक्त भाव विभोर हो उठते हैं भगवान गणेश जी की इस विशाल प्रतिमा के साथ-साथ आसपास रिद्धि-सिद्धि की प्रतिमाएं भी मौजूद है और गणेश जी के पैरों के पास मूषक भी बना हुआ है यहां पर भगवान गणेश जी के एक हाथ में लड्डू है इस मंदिर के अंदर भगवान गणेश जी के दर्शन के लिए भक्तों का तांता लगा रहता है परंतु गणेशोत्सव के दौरान भक्तों की कुछ ज्यादा ही भीड़ देखने को मिलती है।

गोबर गणेश जी के इस मंदिर के प्रति भक्तों की काफी श्रद्धा है जो भक्त यहां दर्शन के लिए आते हैं उनका ऐसा कहना है कि भगवान गणेश जी अपने भक्तों की सभी इच्छाएं पूरी करते हैं दूर दूर से लोग भगवान गणेश जी के दर्शन के लिए आते हैं।

Recommended For You

Sohan Mahto

About the Author: Sohan Mahto

Leave a Reply