ठंड में जरूर आजमायेँ ये आयुर्वेदिक टिप्स, हेल्थ के लिए हैं बेहद ही फायदेमंद

DMCA.com Protection Status

सर्दियों के मौसम में अच्छी सेहत को बनाए रखने के लिए कई बातों का ध्यान रखना पड़ता हैं क्योंकि ठंड के मौसम में कई प्रकार की समस्या उत्पन्न होती हैं, जैसे- बालों का बेजान होना, फटे होंठ, रूखी त्वचा और सर्दी-जुकाम होना आदि शामिल हैं। इसलिए आज हम आपको सर्दियों के मौसम में किन किन बातों का ध्यान अच्छी सेहत के लिए रखना चाहिए उसके बारे में आपको बताने वाले हैं।

सर्दियों में बड़े काम के हैं ये आयुर्वेदिक टिप्स

आयुर्वेद के मुताबिक सर्दियों में सुबह जल्दी उठकर, नित्य क्रिया करके प्रतिदिन व्यायाम करना चाहिए। दरअसल इस मौसम में सुबह के समय टहलना बेहद फायदेमंद होता हैं, व्यायाम के बाद आप अपने शरीर में तेल से मालिश करे।

सर्दियों के मौसम में गरम पानी से नहाना चाहिए लेकिन यदि आपकी आदत ठंड पानी से नहाने की हैं तो आप ठंडे पानी से ही नहाये। आयुर्वेद के मुताबिक इस मौसम में जड़ी-बूटियों का स्टीम बाथ लेना बेहद फायदेमंद होता हैं। दरअसल यदि आपके नहाने की आदत ठंडे पानी से हैं और आप जाड़े में गरम पानी से नहाते हैं तो आपको शीत-गरम हो सकता हैं, जिसके कारण आपको सर्दी-जुकाम भी हो सकता हैं।

  • सर्दियों के मौसम में शक्कर का इस्तेमाल ना करके गुड का इस्तेमाल करे, इस मौसम में शहद का इस्तेमाल भी बेहद फायदेमंद होता हैं। इसके अलावा गर्माहट के लिए शुद्ध घी का सेवन और मूंग, तुवर, उड़द की दालों का सेवन भी अच्छा रहता है।
  • ठंड की रात बड़ी होती हैं इसलिए सुबह जल्दी भूख लग जाती हैं। इसलिए इन दिनों सुबह के नाश्ते में हलवा, शुद्ध घी से बनी जलेबी, लड्‍डू, सूखे मेवे, दूध आदि पौष्टिक एवं गरिष्ठ पदार्थों का सेवन करे क्योंकि सुबह का नाश्ता बेहद जरूरी होता हैं और यह हेल्दी हो तो और भी फायदेमंद होता हैं।

  • सर्दियों के मौसम में सूखे मेवे का इस्तेमाल करे लेकिन इसे उबाल कर ना खाएं, ठंड के दिनों में बादाम, पिस्ता, काजू, छुआरे, पिंड खजूर, अंजीर, केसर का इस्तेमाल करे, सूखे मेवे के इस्तेमाल से आपके शरीर में अंदरूनी ताकत मिलती हैं जो आपके शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती हैं।

  • इस मौसम में लोग खाने को और भी टेस्टी और चटपटा बनाने के लिए अचार का इस्तेमाल करते हैं लेकिन जाड़े में इसका ज्यादा इस्तेमाल नुकसानदायक होता हैं और इस मौसम में रोग के हिसाब से सिर्फ नींबू के अचार का ही इस्तेमाल करे। दरअसल अचार में बहुत सारे मिर्च-मसाले डाले जाते हैं और इसमें ऑयल की भी मात्रा बहुत ज्यादा होती हैं। जिसके ज्यादा इस्तेमाल से आपको कई सारी समस्याएँ उत्पन्न हो सकती हैं, इसलिए ठंड के मौसम में कम से कम अचार का इस्तेमाल करे।

 

  • सर्दियों के मौसम में जुकाम और इन्फलूएंजा की शिकायत अक्सर हो जाया करती है। ऐसी हालत में दालचीनी का तेल मिश्री के साथ मिलाकर खाने से तथा रुमाल पर कुछ बूंदें छिड़ककर सूंघने से फायदा मिलता है। नए जुकाम में दालचीनी की छाल का चूर्ण डेढ़ माशा को गरम चाय से लेने से विशेष लाभ होता है। इसके अलावा आपको यह भी बता दें कि दालचीनी का इस्तेमाल वजन कम करने में भी सहायक होता हैं, इसके अलावा यह आपके पाचन क्रिया को भी दुरुस्त रखता हैं।

यह भी पढ़ें :

Recommended For You

About the Author: Kumar Gourav

Leave a Reply