शनि के प्रकोप से छुटकारा दिलाएगा नींबू-लौंग का ये उपाय, साढ़ेसाती और ढैय्या से मिलेगी मुक्ति

DMCA.com Protection Status

लोग अक्सर शनिदेव का नाम सुनते ही भयभीत हो जाते हैं क्योंकि शनि देव सबसे क्रोधित देवता माने गए हैं, ज्योतिष शास्त्र में भी शनि को सबसे अधिक गुस्सैल ग्रह माना गया है, ऐसा बताया जाता है कि अगर शनिदेव का प्रकोप किसी व्यक्ति पर पड़ जाए तो उसके जीवन में दुख परेशानियां अपना घर बना लेती है और इन सभी परेशानियों से छुटकारा पाना व्यक्ति के लिए लगभग बहुत ही कठिन हो जाता है, इसको शनि दोष कहा जाता है, बहुत से लोग ऐसे हैं जो शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए इनकी पूजा-अर्चना करते हैं और कई लोग तरह-तरह के उपाय अपनाकर शनिदेव की बुरी दृष्टि से बचना चाहते हैं, ऐसे में कई उपाय सफल साबित होते हैं तो ज्यादातर उपाय असफल रहते हैं, इन उपायों को करके व्यक्ति को कोई भी लाभ नहीं प्राप्त हो पाता है, ज्योतिष में शनि देव के दोषों से छुटकारा पाने के लिए बहुत से उपाय बताए गए हैं इन्हीं उपायों में से एक हनुमान जी की आराधना करना बहुत ही लाभदायक माना गया है।

जैसा कि आप लोग जानते हैं महाबली हनुमान जी को संकट मोचन के नाम से भी जाना जाता है, यह अपने भक्तों के सभी संकट पल भर में दूर कर देते हैं जो भक्त अपने सच्चे मन से महाबली हनुमान जी की पूजा अर्चना करता है उनकी सभी समस्याओं का निवारण होता है, ज्योतिष शास्त्र में हनुमान जी की आराधना से शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या का निवारण करने का भी उल्लेख किया गया है और इसमें हनुमान जी की आराधना की खास विधि बताई गई है, आप नींबू और लौंग से जुड़ा हुआ उपाय करके भी शनि के प्रकोप से बच सकते हैं, अगर आप यह उपाय अपनाते हैं तो आपको शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या से मुक्ति प्राप्त होगी, आज हम आपको शनि के दोषों से छुटकारा पाने के लिए नींबू और लौंग का उपाय बताने वाले हैं।

शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या से छुटकारा पाने के लिए नींबू और लौंग का उपाय

बहुत से लोग ऐसे हैं जिनके जीवन में परेशानियां अक्सर बनी रहती है और इन सभी परेशानियों का मुख्य कारण शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या होती है, अगर आप अपनी इन परेशानियों से छुटकारा प्राप्त करना चाहते हैं तो इसके लिए शनिवार के दिन नींबू और लौंग से जुड़ा हुआ उपाय कर सकते हैं लाल किताब के मुताबिक शनिवार के दिन शुभ मुहूर्त में किसी शनि मंदिर में जाएं और हनुमान जी को एक नींबू के साथ चार लौंग अर्पित कीजिए, इसके पश्चात हनुमान जी को तेल और सिंदूर अर्पित करें, और 11 बार हनुमान चालीसा का पाठ कीजिए, इतना करने के बाद आप नींबू में लौंग को चुभा दीजिए, उसके बाद नींबू से लौंग निकाल कर उसको हाथ में लेकर हनुमान जी से मन ही मन प्रार्थना कीजिए इसके साथ ही मन में यह भी कामना कीजिए कि शनि के जितने भी दोष हैं उन सभी का निवारण हो जाए और लौंग को लेकर अपने घर पर आ जाए और किसी पवित्र और सुरक्षित स्थान पर रख दीजिए।

अगर आप कोई भी उपाय करते हैं तो इसके लिए आपके मन में विश्वास होना चाहिए, और अपनी सच्ची श्रद्धा के साथ उपाय करना बहुत ही जरूरी है, ऐसा माना जाता है कि महाबली हनुमान जी अपने भक्तों की सच्ची श्रद्धा देखते हैं, अगर आप सच्ची श्रद्धा से कोई उपाय नहीं करेंगे तो इसका फल आपको प्राप्त नहीं हो पाएगा, इसलिए आप इन सभी चीजों का ध्यान अवश्य रखें, अगर आप यह उपाय अपनी सच्ची श्रद्धा से करेंगे तो इससे आपके ऊपर हनुमान जी की कृपा होगी और आपको शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या से छुटकारा मिल जाएगा।

Recommended For You

Sohan Mahto

About the Author: Sohan Mahto

Leave a Reply