शिव जी के अलावा इन देवताओं को मनाने से मिलेगा मनचाहा प्यार, ऐसे करें इन्हें प्रसन्न

इस संसार में हर किसी को एक अच्छे जीवनसाथी की तलाश रहती है। हर कोई यही चाहता है कि उसको अपना मनचाहा प्यार मिले। आमतौर पर देखा गया है कि लड़के या लड़की के विवाह के लिए ग्रह-नक्षत्र जिम्मेदार होते हैं। कई बार मनुष्य को अपने मन मुताबिक जीवनसाथी या प्रेम की प्राप्ति नहीं हो पाती है। अगर आप प्यार से संबंधित देवताओं को प्रसन्न करते हैं तो इससे आपको शुभ परिणाम हासिल होंगे। आज हम आपको कुछ ऐसे देवताओं के बारे में जानकारी देने वाले हैं जिनको प्रेम का देवता माना जाता है। इनको प्रसन्न करके मनचाहे प्यार की प्राप्ति होगी।

मनचाहा प्यार पाने के लिए इन देवताओं को मनाएं

भगवान शिव जी

देवों के देव महादेव सबसे श्रेष्ठ देवता माने जाते हैं। ऐसा बताया जाता है कि यदि यह किसी व्यक्ति से प्रसन्न हो जाएँ तो उस व्यक्ति की सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती है। भगवान शिव जी और देवी पार्वती जी का सृष्टि का सबसे प्रेमिल जोड़ा है। सबसे पहला प्रेम विवाह भी शिव जी का पार्वती जी से हुआ है। अगर महिलाओं को अपने मनपसंद जीवनसाथी की कामना है तो ऐसी स्थिति में भगवान शिव जी की आराधना जरूर करें। महाशिवरात्रि और सोमवार के दिन लड़कियां मनचाहा जीवनसाथी के लिए भगवान शिव जी की पूजा कर सकती हैं।

भगवान श्री कृष्ण

हिंदू धर्म मान्यताओं के अनुसार देखा जाए तो भगवान श्री कृष्ण जी रास और रोमांस के देवता माने जाते हैं। अगर आप सच्चे प्यार की तलाश में है तो आप भगवान कृष्ण जी की आराधना जरूर कीजिए। आप भगवान श्री कृष्ण जी के साथ राधा जी की पूजा करें। ऐसा करने से आपको मनचाहा जीवनसाथी मिलेगा और आप लोगों के बीच हमेशा प्यार बना रहेगा।

कामदेव

आप सभी लोगों ने कामदेव के बारे में तो सुना ही होगा। पौराणिक काल की कई कहानियों में कामदेव का उल्लेख मिलता है। कामदेव प्रेम के देवता माने जाते हैं। हिंदू धर्म शास्त्रों के अनुसार कामदेव को प्रेम और आकर्षण का देवता कहा जाता है। कामदेव का विवाह रति नाम की देवी से हुआ था, जो प्रेम और आकर्षण की देवी मानी जाती है। कामदेव की तुलना अक्सर ग्रीक देवता इरोज से की जाती है। कभी उन्हें पश्चिमी देशों में प्रचलित क्यूपिड के रूप में दिखाया जाता है। कामदेव को ऐसा देवता माना गया है जो हमारी सारी हसरतों, प्यार और वासना के जिम्मेदार होते हैं। युवा और सुंदर कामदेव भगवान ब्रह्मा जी के पुत्र माने गए हैं। अगर आप इनको मना लेते हैं तो इससे आपको मन चाहे प्रेम की प्राप्ति होगी।

शुक्र

अगर जीवन में प्यार का फूल खिलाना है तो इसके लिए शुक्र ग्रह का अच्छा होना बहुत ही जरूरी है। अगर आपकी कुंडली में शुक्र ग्रह की स्थिति मजबूत है तो आपको प्यार में सफलता मिलती है। पति-पत्नी, प्रेम संबंध, भोग विलास, आनंद आदि का कारक शुक्र ग्रह माना जाता है। अगर शुक्र आप पर मेहरबान है तो इससे आपका जीवन प्रेम से परिपूर्ण रहेगा। अगर आप शुक्र देव की पूजा करते हैं तो इससे मनचाहे प्रेम की प्राप्ति होगी।

रति

आपको बता दें कि प्रजापति दक्ष की बेटी रति मानी जाती है। यह भगवान कामदेव की सहायक हैं रति प्यार, हसरत, वासना की देवी मानी गई हैं। अगर आपको मनचाहे प्यार की अभिलाषा है तो आप रति की पूजा कर सकते हैं।

Leave a Reply