xpornplease pornjk porncuze porn800 porn600 tube300 tube100 watchfreepornsex
सूर्य को जल अर्पित करते समय ना करें यह गलती अन्यथा सूर्यदेव हो जाएंगे नाराज -
अध्यात्म

सूर्य को जल अर्पित करते समय ना करें यह गलती अन्यथा सूर्यदेव हो जाएंगे नाराज

रविवार का दिन सूर्य देवता को समर्पित है और इस दिन सूर्य देव की विशेष पूजा अर्चना की जाती है, हिंदू धर्म शास्त्रों में भी इस बात का उल्लेख किया गया है कि सूर्य देवता की पूजा करने से व्यक्ति को समाज में मान सम्मान की प्राप्ति होती है, अगर आप सूर्य देव के मंत्रों का जाप करते हैं तो इससे आपकी कुंडली में अगर सूर्य से संबंधित किसी प्रकार का दोष है तो वह दूर होता है, लेकिन ऐसे बहुत ही कम लोग होंगे जिनको इस बात का पता होगा कि सूर्य देवता की पूजा करते समय उनको जल चढ़ाया जाता है और जल अर्पित करते समय कुछ गलतियां जाने अनजाने में ऐसी हो जाती है जिसकी वजह से सूर्य देवता आपसे रुष्ट हो जाते हैं।

हिंदू धर्म शास्त्रों में ऐसे कुछ गलतियों के बारे में बताया गया है जो सूर्य देवता को जल अर्पित करते समय व्यक्ति को भूलकर भी नहीं करना चाहिए, अगर आप यह गलती करते हैं तो इसकी वजह से आपको उचित फल की प्राप्ति नहीं होगी, आखिर यह गलतियां कौन सी है? आज हम आपको इसी विषय में जानकारी देने वाले हैं।

आइए जानते हैं सूर्य को जल अर्पित करते समय कौन सी नहीं करनी चाहिए गलतियां

  • अगर आप सूर्य देवता को जल अर्पित कर रहे हैं तो उस समय के दौरान आपको इस बात का विशेष ध्यान देना होगा कि जो जल आप सूर्य देवता को चढ़ा रहे हैं उसकी छींटें आपके पैरों पर नहीं पड़नी चाहिए, अगर जल के छींटे आपके पैरों पर पड़ती है तो इससे आपको अपनी पूजा का फल प्राप्त नहीं होता है।
  • अगर आप सूर्य देवता को जल अर्पित कर रहे हैं तो उनकी पूजा के दौरान आप लाल फूल, लाल चंदन, चावल अर्पित कर सकते हैं और गुड़ या फिर गुड़ से बनी हुई मिठाई का भी भोग लगा सकते हैं।
  • आप सूर्य देवता को जल अर्पित करने के लिए जो पात्र ले रहे हैं वह तांबे का होना चाहिए और जल देते समय आप दोनों हाथों से तांबे के पात्र को पकड़कर जल अर्पित कीजिए।

  • आप सूर्य देवता को जल रविवार के दिन स्नान करने के पश्चात ध्यान करके अर्पित कीजिए, अगर आप ऐसा करते हैं तो आपकी कुंडली में मौजूद सभी प्रकार के दोष दूर होते हैं, अगर आप सूर्य को जल ब्रह्म मुहूर्त में अर्पित करेंगे तो इससे आपको उत्तम फल की प्राप्ति होगी परंतु भूलकर भी बिना स्नान किए जल ना चढ़ाएं।
  • हमेशा पूर्व दिशा की तरफ अपना मुंह करके सूर्य देव को जल अर्पित करें अगर आपको इस दिशा में सूर्य दिखाई नहीं दे रहा है तो भी इसी दिशा में जल चढ़ाएं, इसके अलावा सूर्य को जल देते समय आपको यह ध्यान रखना होगा कि सूर्य की किरणों की धारा आपको नजर आनी चाहिए।
  • सूर्य देव को जल अर्पित करते समय आपको यह ध्यान रखना होगा कि आप हमेशा सिर के ऊपर से ही जल अर्पित कीजिए, मान्यता अनुसार ऐसा करने से सूर्य की किरणें व्यक्ति के शरीर पर पड़ती है, जिससे सूर्यदेव आपसे प्रसन्न होते हैं और नवग्रह भी मजबूत होते हैं।

उपरोक्त सूर्य देवता को जल अर्पित करते समय कौन-कौन सी बातों का विशेष ध्यान रखना आवश्यक है, इसके बारे में जानकारी दी गई है, अगर आप इन बातों को ध्यान रखकर सूर्य को जल अर्पित करते हैं तो इससे आपको अपनी पूजा का शुभ फल मिलेगा और सूर्य देवता भी आपसे प्रसन्न होंगे, जिससे कई तरह की समस्याएं दूर हो सकती हैं।

Leave a Reply

Back to top button