आखिर क्यों लगाया जाता है राखी पर तिलक? जानिए इसके शुभ महत्व के बारे में

अध्यात्म

राखी का त्यौहार भाई बहनों का प्रमुख त्योहार माना जाता है, रक्षाबंधन का त्यौहार हो या फिर अन्य किसी अवसर पर माथे पर तिलक लगाने की परंपरा काफी पुराने समय से ही चली आ रही है, इस साल राखी का त्यौहार 15 अगस्त 2019 को मनाया जाएगा, रक्षाबंधन के त्यौहार पर बहन अपने भाई के माथे पर तिलक लगाती है, जैसे-जैसे समय बदलता जा रहा है वैसे-वैसे बहुत से लोग ऐसे हैं जो अपने माथे पर तिलक लगवाना पसंद नहीं करते हैं, लेकिन क्या आप लोग इस बात को जानते हैं कि आखिर माथे पर तिलक क्यों लगाया जाता है और इसका शुभ महत्व क्या है?

शायद ऐसे बहुत ही कम लोग होंगे जो इस बारे में जानते होंगे की माथे पर तिलक क्यो लगाया जाता है, इस आधुनिक युग में कम ही लोग है जो अपने माथे पर तिलक लगाते हैं, आज हम आपको शास्त्रों के अनुसार माथे पर तिलक लगाने का शुभ महत्व क्या है? इस विषय में जानकारी देने वाले हैं।

आइए जानते हैं आखिर क्यों लगाया जाता है माथे पर तिलक

  • अगर हम शास्त्रों के अनुसार देखें तो श्वेत चंदन, लाल चंदन, कुमकुम, भस्म आदि से तिलक लगाना शुभ माना जाता है, रक्षाबंधन के पवित्र त्यौहार पर बहन अपने भाई के माथे पर तिलक करती है, बहन अपने भाई के माथे पर कुमकुम का तिलक लगाने के साथ ही चावल का भी इस्तेमाल करती है, यह तिलक विजय, पराक्रम, सम्मान का प्रतीक माना जाता है, अगर तिलक माथे के बीच में लगाया जाए तो यह स्थान छठी इंद्री का होता है।
  • माथे पर तिलक लगाने के पीछे वैज्ञानिक कारण भी बताया गया है, अगर तिलक लगाते समय माथे के बीच में दबाव बनाया जाए तो इससे स्मरण शक्ति, जल्द फैसला लेने की क्षमता, साहस और बल में बढ़ोतरी होती है।

  • अगर मस्तिष्क के दोनों भौहों के बीच में तिलक लगाया जाए तो यह अग्नि चक्र कहा जाता है, इसकी वजह से व्यक्ति के पूरे शरीर में शक्ति का संचार होने लगता है और व्यक्ति के आत्मविश्वास में बढ़ोतरी होती है।
  • ऐसा बताया जाता है कि अगर व्यक्ति नियमित रूप से अपने माथे पर तिलक लगाता है तो इससे मानसिक शांति प्राप्त होती है और उसको सुकून मिलता है, इसके अतिरिक्त मानसिक बीमारियों से भी छुटकारा मिलता है।
  • अगर माथे पर हल्दी का तिलक लगाया जाए तो इससे त्वचा शुद्ध होती है, हल्दी में एंटीबैक्टीरियल तत्व पाए जाते हैं जो बहुत से रोगों से छुटकारा दिलाने में हमारी मदद करती है।

  • अगर हम धार्मिक मान्यता के अनुसार देखें तो चंदन का तिलक लगाने से व्यक्ति को पापों से छुटकारा मिलता है और व्यक्ति कई तरह के संकट से बच सकता है, ज्योतिष शास्त्र के अनुसार माथे पर तिलक लगाने से ग्रह शांत होते हैं।
  • अगर व्यक्ति अपने माथे पर चंदन का तिलक लगाता है तो इससे उसके घर परिवार में कभी भी अनाज और धन की कमी नहीं रहती है, व्यक्ति हमेशा धन-धान्य से परिपूर्ण रहता है और उसकी सोई हुई किस्मत खुलती है।
  • आप लोगों ने गौर किया होगा कि तिलक लगाने के पश्चात चावल लगाया जाता है, चावल लगाने से सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है, शास्त्रों के मुताबिक चावल का इस्तेमाल शुभ कार्य, हवन और देवताओं को अर्पित करने में किया जाता है, इसलिए चावल को शुद्ध अन्न माना गया है, तिलक लगाते समय चावल का इस्तेमाल करने से आसपास की नकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव खत्म हो जाता है।

Leave a Reply