Kabir Singh Movie Review: जानें क्या हैं शाहिद की फिल्म की खास बातें, जो आपको उनका दीवाना बना देंगी

शाहिद कपूर की फिल्म कबीर सिंह जिसका उनके फैंस बेसब्री से इंतजार कर रहे थे फाइनली आज वो रिलीज हो गई। फिल्म में शाहिद और कियारा की केमिस्ट्री लोगों को काफी पसंद आ रही है। इसके अलावा फिल्म में काम करने वाले बाकी सभी एक्टर्स की भी काफी तारीफ हो रही है। बता दें कि शाहिद और उनके फैंस को इस फिल्म से काफी आशाएं है। अगर आप भी इस फिल्म को देखने का मन बना रहे हैं तो उससे पहले जान लीजिए की फिल्म की कहानी क्या है।

प्यार में कितनी ताकत होती है इस बात को तो हर कोई जानता है। दो लोग जब प्यार में पड़ते हैं तो उनको दुनिया की परवाह नहीं होती, अगर उनका प्यार मुकम्मल हो जाता है तो कहना ही क्या। लेकिन यदि दो प्रेमी जुदा हो जाते हैं तब क्या होता है। वहीं इस फिल्म में दिखाया गया है। राजकुमार राव की फिल्म शादी में जरूर आना तो आपने देखी ही होगी। इसमें जब राजकुमार राव को अपनी प्रेमिका नहीं मिलती हैं तब वो अपने करियर को किस बुलंदी पर ले जाते हैं। लेकिन वहीं सबके साथ ऐसा नहीं होता है कुछ प्रेमी ऐसे भी होते हैं जो खुद को बर्बाद कर लेते हैं। और इस फिल्म में एक ऐसी ही प्रेमी को दिखाया गया है। जो अपने अधूरे प्यार की खातिर खुद की जिंदगी को तबाह कर लेता है।

क्या है फिल्म की कहानी

कबीर सिंह अपने कॉलेज के टॉप स्टूडेंट होते हैं। ना सिर्फ एकेडमिक बल्कि स्पोर्टस में भी। हालांकि वो काफी गुस्सैल प्रवर्ति के होते हैं। लेकिन तभी फिल्म में एंट्री होती है प्रीती (कियारा) की। प्रीती, जो कॉलेज की फर्स्ट ईयर स्टूडेंट्स में से एक है। प्रीती एक सीधी-साधी लड़की होती है और उसकी इसी सादगी पर कबीर अपना दिल हार बैठते हैं। लेकिन इनकी प्रेम कहानी पूरी नहीं हो पाती और दोनों जुदा हो जाते हैं।

इसके बाद शुरू होती है कबीर सिंह की बर्बादी। कबीर दिन रात नशे में डूबा रहता है। शराब से लेकर गांजा, कोकीन तक सबकुछ करता है और हॉस्पिटल में बतौर सर्जन काम कर रहा है। लेकिन प्रीति उसके दिमाग से जाती नहीं। लोगों के लाख समझाने पर भी वो किसी की नहीं सुनता है। और इसी तरह से फिल्म की कहानी आगे बढ़ती है। आखिर में क्या होता है इसके लिए तो आपको फिल्म जाकर ही देखनी होगी।

कलाकारों की एक्टिंग

बात करें फिल्म में अभिनय की तो शाहिद कपूर ने एक बर्बाद आशिक यानि की कबीर सिंह की किरदार बखूबी निभाया है। वहीं कियारा ने भी अपने किरदार के साथ वफादारी बर्ती है। फिल्म में कुछ सींस ऐसे भी हैं जिन्हें देखकर आप कियारा की तारीफ करते नहीं थकेंगे। वहीं फिल्म में कबीर के पिता का करिदार सुरेश ओबेरॉय, उसके भाई के रोल में अर्जन बाजवा, कॉलेज के डीन में रोल में आदिल हुसैन और बाकी एक्टर्स ने भी बढ़िया काम किया है।

लेकिन फिल्म में एक ऐसा किरदार भी है जिसने पूरी फिल्म में जान डाल दी है। वो है कबीर के दोस्त शिवा। बता दें कि फिल्म में शिवा का किरदार सोहम मजूमदार ने प्ले किया है। उनका अभिनय फिल्म की शुरूआत से लेकर अंत तक काबिले तारीफ हैं। वो एक ऐसे दोस्त हैं जो अपने दोस्त के साथ हर कदम पर खड़ा है उसको संभाला है। ॉकबीर के साथ पढ़ने करने से लेकर उसकी जिंदगी बचाने और बसाने की कोशिश तक शिवा वो सबकुछ करता है जो एक अच्छा दोस्त आपके लिए कर सके, बल्कि उससे भी और बहुत ज्यादा कुछ।

फिल्म का डायरेक्शन

फिल्म का डायरेक्शन संदीप वागा ने किया है। फिल्म को देखकर कहा जाए तो उनके निर्देशन में कोई कमी नहीं हैं। उन्होंने फिल्म को काफी अच्छी तरीके से दर्शकों के सामने पेश किया है।

फिल्म का म्यूजिक

बात करें फिल्म के म्यूजिक की तो ये कमाल का है। जब से फिल्म के गाने रिलीज हुए हैं तभी से लोगों के दिलों में छा गए हैं। बता दे ंकि फिल्म में म्यूजिक बॉलीवुड के बढ़िया कंपोजर्स की टीम- मिथुन, अमाल मलिक, विशाल मिश्रा, सचेत-परंपरा और अखिल सचदेव ने दिया है।

Leave a Reply