धोनी-रैना ने इस खिलाड़ी को नहीं दिया खेलने, पर जैस ही किस्मत पलटी बन गया IPL का नया ‘सुपरस्टार’

DMCA.com Protection Status
धोनी और रैना नहीं दिया 2 साल तक खेलने का मौका, पर किस्मत बदलते ही बन गया IPL का नया ‘सुपरस्टार’

क्रिकेट के दुनिया में हर साल कई सारे नए खिलाड़ी की एंट्री होती हैं, जिनमें कुछ अपने प्रतिभा और प्रदर्शन के दम पर अपना नाम बनाने में कामयाब रहते हैं तो कई ऐसे भी खिलाड़ी होते हैं जिन्हे अपनी प्रतिभा के प्रदर्शन का मौका ही नहीं मिलता, और ऐसे में वे कुछ समय बाद गुमनामी में खो जाते हैं। दरअसल क्रिकेट के क्षेत्र में कामयाब होने के लिए प्रतिभा और मेहनत के अलावा मौका मिलना भी बड़ी बात होती हैं.. जी हां, मौका जिसका हर एक खिलाड़ी को इंतजार होता है। दरअसल क्रिकेट टीम में चयन होने के साथ प्लेइंग इलेवन में खेलने का मौका मिलना खिलाड़ी के लिए बेहद महत्वपूर्ण है और जब ऐसा मौका किसी प्रतिभावान खिलाड़ी को मिलता है तो उसकी किस्मत पलट देर नहीं लगती। इस आईपीएल सीजन में एक खिलाड़ी को ऐसा ही मौके मिला है, जिसके बूते आज वो आईपीएल का नया सुपरस्टार बन चुका है। दरअसल हम बात कर रहे हैं IPL-11 में पर्पल कैप पर अपनी बादशाहत कायम करने वाले पंजाब के तेज गेंदबाज एंड्रयू टाय की।

जी हां, वहीं एंड्रयू टाय जिसके सामने इस सीजन कोई दिग्गज बल्लेबाज अधिक देर टिक नहीं पा रहा, मौजूदा सीजन में एंड्रयू 24 विकेट लेकर टॉप पर चल रहे हैं, साथ ही इस दौरान उन्होंने एक ऐसा रिकॉर्ड भी बनाया है कि जो कि आईपीएल के इतिहास में इससे पहले दूसरा कोई गेंदबाज नहीं बना सका। दरअसल 19 मैच खेल चुके एंड्रयू टाय की गेंदबाजी का औसत 16.43 है जो कि आईपीएल में गेंदबाजी का सर्वश्रेष्ठ रिकॉर्ड है। एंड्रयू के नाम आईपीएल में अब तक 36 विकेट है, जिसमें से 24 विकेट तो इसी सीजन में लिए हैं।

एंड्रयू टाय रॉयल चैलेंज बेंगलुरु, केकेआर और मुंबई इंडियंस के खिलाफ खेले गए पिछले तीनों मैचों में 4-4 विकेट झटक चुके हैं। इस तरह एंड्रयू आईपीएल में ऐसे पहले गेंदबाज हैं जिन्होंने लगातार तीन मैचों में चार विकेट झटके हों। हालांकि पिछले मैचों में वो पंजाब को जीता नहीं सके, पर उनकी शानदार गेंदबाजी ने विरोधी टीम को मुश्किल में जरूर डाला ।

इस आईपीएल अपनी शानदर गेंदबाजी का जौहर दिखाने वाले एंड्रयू टाय के बारे में सबसे चौकाने वाली बात ये है कि इन्हे अपने पहले के दो सीजन में तो खेलने का मौका ही नहीं दिया गया था। दरअसल 2015 में चेन्नई सुपरकिंग्स ने एंड्रयू टाय को खरीदा था, पर उस साल उन्हें आईपीएल में एक में भी मैच खेलने का मौका नहीं मिला, शायद टीम कैप्टन धोनी ने उनकी प्रतिभा को पहचाना नहीं या फिर किस्मत ने एंड्रयू का साथ नहीं दिया, वहीं इसके अगले साल यानी 2016 में भी एंड्रयू को गुजरात लायंस की टीम में शामिल किया गया जिसके कप्तान सुरेश रैना था, पर रैना ने भी उन पर भरोसा नहीं जताया और उन्हें एक बार भी प्लेइंग इलेवन में मौका नहीं दिया ।

इस तरह से एंड्रयू टाय को आईपीएल में अपना पहला मुकाबला खेलने के लिये 34 मैचों का इंतजार करना पड़ा और साल 2017 में उन्हें किंग्स इलेवन पंजाब की तरफ से पहली बार प्लेइंग इलेवन में मौका मिला। तभी एंड्रयू ने पुणे सुपरजायंट्स के खिलाफ पहले मैच में ही हैट्रिक विकेट चटका कर एक नया कीर्तिमान स्थापित किया । पर इस बार भी उनकी किस्मत ने उनका साथ नहीं दिया और 2017 के आईपीएल सीजन में चोटील होने की वजह से उन्हे अपने देश वापस लौटना पड़ा ।

वहीं इस साल आईपीएल-11 में किंग्स इलेवन पंजाब ने एंड्रयू टाय को 7.2 करोड़ रुपये में खरीदा है, जिसमें मौका मिलते ही उन्होने अपने शानदार गेंदबाजी का जौहर दिखाना शुरू किया.. एंड्रयू अब तक इस सीजन में 24 विकेट हासिल कर सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज के रूप पर्पल कैप पर अपनी बादशाहत कायम किए हुए हैं।

 

Recommended For You

Avatar

About the Author: Yashodhara Virodai

Leave a Reply