आचार्य चाणक्य वचन: इस तरह के पुरुष कभी प्यार में नहीं होते असफल!

DMCA.com Protection Status

आचार्य चाणक्य जी अपने समय के बहुत ही अच्छे नीतिकार माने जाते थे इन्होंने मनुष्य को लेकर ऐसी बहुत सी बातें बताई हैं जिससे मनुष्य का जीवन सफल हो सकता है आचार्य चाणक्य जी ने ऐसी बहुत सी बातों का जिक्र किया है जिससे व्यक्ति के रिश्ते टूटने से बच सकते हैं जैसा कि आप सभी लोग जानते हैं कि वर्तमान समय में ब्रेकअप का सिलसिला बहुत आम बात हो गया है चाहे आप खुद ही देख लीजिए या फिर आप अपने फ्रेंड सर्कल में किसी को देख लीजिए आपको एक से ज्यादा ब्रेकअप हुए दिखाई दे जाएंगे चलो एक बार के लिए मान लेते हैं कि गर्लफ्रेंड और बॉयफ्रेंड का ब्रेकअप हो सकता है परंतु आजकल तो जो व्यक्ति शादी के बंधन में बंध चुके हैं जिन्होंने सात जन्मों की कसमें खाई है वह भी कुछ महीनों बाद एक दूसरे के साथ रहने में कतरा ने लगे हैं।

आप लोगों ने यह कहावत तो सुनी ही होगी “इंसान प्यार में अंधा हो जाता है जिसकी वजह से सच और झूठ, सही और गलत जैसी बातें समझ नहीं पाता है” आज हम आपको आचार्य चाणक्य जी द्वारा बताए गए ऐसे कुछ पुरुषों के बारे में जानकारी देने वाले हैं जो प्यार के मामले में कभी असफल नहीं होते हैं।

आइए जानते हैं किस तरह के पुरुष प्यार के मामले में असफल नहीं होते हैं

  • आचार्य चाणक्य के अनुसार जो पुरुष हमेशा किसी भी स्त्री को सम्मान की नजर से देखता है उस पुरुष की प्रेमिका हो या स्त्री हो परंतु वह उनको सम्मान देता है और उनका महत्व समझता है तो ऐसे पुरुष का रिश्ता कभी भी नहीं टूट सकता है।
  • आचार्य चाणक्य जी ने एक बहुत ही अच्छे गुण के बारे में बताया है इनका कहना है कि जो पुरुष अपनी प्रेमिका या पत्नी के अलावा किसी भी अन्य स्त्री को वासना की नजर से नहीं देखता है या फिर किसी पराई स्त्री के प्रति आकर्षित नहीं होता है तो ऐसा पुरुष हमेशा अपने संबंधों को बचाने की कोशिश में लगा रहता है और वह अपने संबंधों को कभी नहीं टूटने देता है।

  • आचार्य चाणक्य अनुसार जो पुरुष अपने साथी को सुरक्षा का एहसास करवाता है वह अपने साथी को अच्छा माहौल देता है तो ऐसा पुरुष कभी भी प्यार के मामले में हारता नहीं है बड़े बुजुर्गों का ऐसा कहना है कि हमेशा लड़की अपने होने वाले साथी में अपने पिता की छाया देखना चाहती है अगर कोई लड़की आपके साथ रहकर सुरक्षित महसूस करती है तो वह आपका साथ कभी नहीं छोड़ेगी।
  • आचार्य चाणक्य जी का कहना है कि वैवाहिक जीवन में शारीरिक सुख और संतुष्टि का होना बहुत ही आवश्यक है इसलिए जो पुरुष अपने जीवनसाथी को भौतिक और भावनात्मक सुख के अतिरिक्त शारीरिक सुख और संतुष्टि प्रदान करता है तो ऐसे पुरुष से उसकी बीवी हमेशा प्रसन्न रहती है।

उपरोक्त जो बातें आचार्य चाणक्य जी के द्वारा बताई गई है अगर आप लोगों में इस तरह के गुण मौजूद है तो आप कभी भी अपने वैवाहिक जीवन या फिर प्यार के मामले में कभी भी असफल नहीं होंगे हम उम्मीद करते हैं कि आप इन बातों पर अमल करके आप अपना जीवन खुशहाली पूर्वक व्यतीत कर पाएंगे।

Recommended For You

Sohan Mahto

About the Author: Sohan Mahto

Leave a Reply